कॉल

मौजूदा पॉलिसी के लिए

प्रीमियम, भुगतान या किसी सर्विसिंग आवश्यकता पर प्रश्न हैं?

हमें कॉल करें:

1 860 266 9966

सोमवार - शनिवार | 10 am - 7 pm IST

कॉल शुल्क लागू

समर्पित एनआरआई हेल्पडेस्क:

+91 22 6251 9966

सोमवार - शनिवार | 10 am - 7 pm IST

कॉल शुल्क लागू

नई पॉलिसी के लिए

क्या आप नई पॉलिसी ऑनलाइन खरीदना चाहते हैं?

हमें कॉल करें:

+91 22 6984 9300

कॉल बैक के लिए छूटी हुई कॉल दें:

+91 11 6615 8748

सोमवार - रविवार | 8 am - 11 pm IST

विशेष रूप से एनआरआई के लिए:

हमें कॉल करें:

कॉल बैक के लिए छूटी हुई कॉल दें:

+91 11 4473 0242

सोमवार - शनिवार | 9 am - 9 pm IST

भाषा

अधिक जानकारी चाहिए?
हम आपकी मदद करेंगे

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड आपको आपकी पॉलिसी, नए उत्पादों और सेवाओं, बीमा समाधान या संबंधित जानकारी पर अपडेट भेजेगा. ऑप्ट-इन करने के लिए यहां चुनें.

क्या आप एक नया प्लान लेना चाहते हैं ?
अभी हमसे जुड़ें

+91

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड आपको आपकी पॉलिसी, नए उत्पादों और सेवाओं, बीमा समाधान या संबंधित जानकारी पर अपडेट भेजेगा. ऑप्ट-इन करने के लिए यहां चुनें.

लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी की मदद से, आप अपने और अपने परिवार को कई जोखिमों, आकस्मिक घटनाओं और जीवन में आने वाले मुश्किल हालातों से बचा सकते हैं. यह सम एश्योर्ड या लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी का कुल कवरेज है जो मुश्किल समय में आपके परिवार की मदद करता है लेकिन उनके भरण-पोषण के लिए वित्तीय सहायता सुनिश्चित करता है. यह तब होता है जब इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो महत्वपूर्ण हो जाता है!

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ, आप अपने क्लेम को समय पर सेटल होने की सुरक्षा का आनंद ले सकते हैं और इस प्रकार, अपनी अनुपस्थिति में अपने परिवार को कई वित्तीय जोखिमों और मुश्किल हालातों से बचा सकते हैं!

क्लेम सेटलमेंट रेश्यो क्या है?

परिभाषा के अनुसार, इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो (सीएसआर) ऐसे क्लेम्स का प्रतिशत होता है जो एक इंश्योरेंस कंपनी या इंश्योरेंस प्रोवाइडर प्राप्त किए गए कुल क्लेम्स को एक वित्तीय वर्ष में पूरा कर सकते हैं. इसलिए, क्लेम सेटलमेंट रेश्यो इंश्योरेंस कंपनी की विश्वसनीयता का एक महत्वपूर्ण इंडिकेटर होता है क्योंकि यह दर्शाता है कि आपके इंश्योरेंस क्लेम को समय पर और प्रभावी तरीके से सेटल किया जाएगा.

लाइफ इंश्योरेंस में, लाइफ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एक आश्वासन है कि जरूरत के समय आपके परिवार को किसी भी वित्तीय कठिनाई से नहीं गुजरना पड़े. इसलिए क्लेम सेटलमेंट रेश्यो जितना अधिक होगा, इंश्योरेंस प्रोवाइडर उतना ही विश्वसनीय होगा. एक अच्छी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी और इंश्योरेंस प्रोवाइडर की पहचान एक विशिष्ट विनियामक टर्न-अराउंड-टाइम के भीतर क्लेम्स को पूरी तरह से सेटल करने की उनकी क्षमता से की जा सकती है.

भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीएआई) की आधिकारिक वेबसाइट आपके इंश्योरेंस प्रोवाइडर के सीएसआर को दर्शाती है.



क्लेम सेटलमेंट रेश्यो जानना इतना महत्वपूर्ण क्यों है?
 

जब आप लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी प्रोवाइडर से लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं, तो ऐसे कई फैक्टर होते हैं जिन पर आप ध्यान देते हैं, जैसे कि कंपनी क्या ऑफर कर रही है, अन्य ग्राहकों द्वारा कंपनी के रिव्यु कैसे हैं आदि. हालांकि, लाइफ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो वह मुख्य फैक्टर है जिस पर रिसर्च की जनि चाहिए और किसी कंपनी को अपने लाइफ इंश्योरेंस प्रोवाइडर के रूप में चुनते समय इस पर ध्यान देना चाहिए.

यहां दो महत्वपूर्ण कारण बताए गए हैं कि क्लेम सेटलमेंट रेश्यो आपको यह तय करने में मदद कर सकता है कि आपको अपनी पसंद के लाइफ इंश्योरेंस प्रोवाइडर से अपनी पॉलिसी खरीदनी चाहिए या नहीं:

  • 1
    भरोसेमंद
    आसान शब्दों में कहें, तो हाई क्लेम रेश्यो का मतलब है कि अगर पॉलिसी टर्म के दौरान लाइफ इंश्योर्ड की मृत्यु हो जाती है, तो कंपनी नॉमिनी को सम एश्योर्ड देने में सक्षम होगी. इसलिए, यदि कोई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी अपने सफल सेटलमेंट के साथ-साथ लगातार हाई क्लेम रेश्यो देती है, तो इसका मतलब है कि कंपनी और उनकी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसियों पर भरोसा किया जा सकता है.
  • 2
    वित्तीय सुरक्षा
    आपकी लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी से मिलने वाला सम एश्योर्ड जो आपके परिवार को आपकी आकस्मिक मृत्यु के मामले में मिलेगा, जो उन्हें वित्तीय सुरक्षा प्रदान करेगा. हालांकि, सम एश्योर्ड का इस्तेमाल तब तक नहीं किया जा सकता जब तक कि क्लेम को सेटल नहीं किया जाता है और यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके इंश्योरेंस प्रोवाइडर पर क्लेम को सेटल करने के लिए भरोसा किया जा सकता है, लाइफ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो का पता होना जरुरी है और इस पर विचार करने की आवश्यकता है.

     


क्लेम सेटलमेंट रेश्यो की कैलकुलेशन कैसे की जाती है?
 

आपके इंश्योरेंस प्रोवाइडर के क्लेम सेटलमेंट रेश्यो की कैलकुलेशन काफी आसान है, और यह संख्या निम्नलिखित फ़ॉर्मूले की मदद से प्राप्त की जा सकती है:
 


क्लेम सेटलमेंट रेश्यो (सीएसआर) = (अप्रूव किए गए क्लेम्स की कुल संख्या/प्राप्त किए गए क्लेम की कुल संख्या) x 100  


जो संख्या आती है उसे हमेशा प्रतिशत के रूप में दर्शाया जाता है. इसलिए, जब एक लाइफ इंश्योरेंस प्रोवाइडर का इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो 90% होता है, तो आसान शब्दों में, इसका मतलब है कि कंपनी ने प्राप्त किए गए 100 क्लेम में से 90 क्लेम को सेटल किया है. वित्त वर्ष 2021-22 में टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस का इंडिविजुअल डेथ क्लेम सेटलमेंट रेश्यो 98.53%* जितना उच्च प्रतिशत होना, कंपनी की विश्वसनीयता का संकेत देता है.

एक प्रतिष्ठित लाइफ इंश्योरेंस प्रोवाइडर न केवल अपने ग्राहकों द्वारा फाइल किए गए क्लेम का सम्मान करेगा और दिए गए विनियामक टर्न-अराउंड-टाइम (TAT) में सेटल करेगा, बल्कि ग्राहक को तेजी से क्लेम फाइल करने में सक्षम होने के लिए एक सुगम और सुविधाजनक प्रक्रिया भी सुनिश्चित करेगा. इंश्योरेंस कंपनियां क्लेम के लिए सफलतापूर्वक भुगतान की गई राशि और उन पॉलिसियों की संख्या को सार्वजनिक करने का विकल्प भी चुन सकती हैं जिनके लिए उन्होंने क्लेम को प्रभावी ढंग से सेटल किया है.

आपका क्लेम हमारी प्राथमिकता है

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस के साथ क्लेम सबमिट करना कितना आसान है, इसके बारे में अधिक जानें.

स्टेप 01

अपना क्लेम ऑनलाइन रजिस्टर करें और अपने डॉक्यूमेंट अपलोड करें

स्टेप 02

डॉक्यूमेंट की पुष्टि की जाती है और क्लेम प्रोसेस किया जाता है

स्टेप 03

क्लेम राशि डिस्बर्स कर दी जाती है
  • आसान क्लेम पहल आपको आपके घर पर ही सुविधाजनक क्लेम सेवा प्रदान करती है
    डोरस्टेप क्लेम सेवाएं

    हमारी आसान क्लेम पहल के साथ, आप हमारे हेल्पलाइन पर कॉल करके अपने घर पर क्लेम सेवा के लिए अपॉइंटमेंट शेड्यूल कर सकते हैं. हमारा एजेंट आपके घर पर जाएगा और डॉक्यूमेंटेशन पूरा करने में आपकी मदद करेगा और क्लेम प्रक्रिया को तुरंत शुरू करेगा.

  • एक्सप्रेस क्लेम - 4 घंटे में क्लेम सेटलमेंट सर्विस
    4 घंटे में क्लेम सेटलमेंट

    हमारी एक्सप्रेस क्लेम सेवा के साथ, बेनिफिशयरी हमारे उस एजेंट के पास आवश्यक डॉक्यूमेंट सबमिट कर सकता है जो क्लेम प्रक्रिया शुरू करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि क्लेम राशि 4 घंटे~ के भीतर प्राप्त हो जाए. ~शर्तें लागू

लाइफ इंश्योरेंस क्लेम के प्रकार

मैच्योरिटी क्लेम और डेथ क्लेम दो प्रकार के क्लेम हैं जिन्हें आप लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत फाइल कर सकते हैं.

  • डेथ क्लेम

    लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत, यदि पॉलिसी टर्म के दौरान आपका निधन हो जाता है, तो आपके परिवार के सदस्यों, या पॉलिसी में दिए गए नॉमिनी/नोमिनीयों को डेथ बेनिफिट दिया जाता है. आपके नॉमिनी को आपके डेथ सर्टिफिकेट के प्रूफ के रूप में कंपनी द्वारा मांगे गए डाक्यूमेंट्स का एक सेट देना होगा, जैसे कि डेथ सर्टिफिकेट, डॉक्टर का सर्टिफिकेट और इसी तरह के अन्य डाक्यूमेंट्स . डेथ बेनिफ़िट यह सुनिश्चित करता है कि आपका परिवार आपकी अनुपस्थिति में आर्थिक रूप से अपने जीवन का निर्वाह कर सके.

  • मैच्योरिटी क्लेम

    सेविंग प्लान, रिटायरमेंट प्लान, यूलिप और एंडोमेंट प्लान जैसी बहुत सारी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसियां मैच्योरिटी बेनिफिट्स के साथ आती हैं, जिनका भुगतान पॉलिसी के मैच्योर होने के बाद पॉलिसी के अनुसार किया जाता है. इसलिए, जब आप मैच्योरिटी क्लेम फाइल करना चाहते हैं, तो पॉलिसी के मैच्योर होने के बाद इंश्योरेंस कंपनी द्वारा आवश्यक डाक्यूमेंट्स का एक सेट सबमिट करके आप अपनी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी की मैच्योरिटी राशि या बेनिफिट प्राप्त कर सकते हैं.

हमारा सबसे ज्यादा बिकने वाला टर्म इंश्योरेंस प्लान क्यों चुनें — टाटा एआईए संपूर्ण रक्षा सुप्रीम?

नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल लाइफ इंश्योरेंस प्लान (UIN:110N160V03)

टाटा एआईए

सम्पूर्ण रक्षा सुप्रीम
  
मुख्य विशेषताऐं:

  • एक कॉम्प्रिहेंसिव प्लान जो आपके प्रीमियम को वापस देता है**

  • जीवन के महत्वपूर्ण पड़ाव पर लाइफ़ कवर बढ़ाएं

  • अपनी आयु% के 100 वर्ष तक वित्तीय सुरक्षा प्राप्त करें.

  • 46,800++ तक इनकम टैक्स तक बचाएं#

  • वैकल्पिक राइडर्स के साथ अपनी सुरक्षा बढ़ाएं^

 

ऐसे फैक्टर जो आपके क्लेम सेटलमेंट को प्रभावित कर सकते हैं

  • जानकारी छुपाना

    कई लोग बिना सबूत दिए अपना क्लेम लेने के लिए जानकारी छिपाते हैं. हालांकि, इससे संदेह बढ़ सकता है और उसकी जांच हो सकती है. जांच के अंत तक पॉलिसीहोल्डर की धोखाधड़ी का खुलासा होने पर क्लेम को रिजेक्ट किया जा सकता है और यह इंश्योरेंस कंपनी के क्लेम सेटलमेंट रेश्यो को नेगेटिव रूप से प्रभावित करेगा.

  • पॉलिसीहोल्डर द्वारा अज्ञानता

    इंश्योरेंस पॉलिसी के नियमों और शर्तों को ठीक से समझने में कुछ समय बिताएं. यदि आप अपने क्लेम सेटलमेंट को प्राप्त करने में असमर्थ हैं क्योंकि आप पॉलिसी के किसी भी अपवाद (इक्स्क्लूश़न) को समझ नहीं पाए हैं, तो इस वजह से क्लेम रिजेक्ट हो सकता है.

  • फैक्ट्स नहीं बताना

    यदि आप, एक पॉलिसीहोल्डर होने के नाते, किसी भी तरह से क्लेम प्रक्रिया को प्रभावित करने वाली महत्वपूर्ण जानकारी नहीं देते हैं या छिपाते हैं, तो इसे धोखाधड़ी का मामला माना जाएगा. इसीलिए ऐसा उदाहरण आपकी इंश्योरेंस कंपनी को आपके क्लेम को सेटल करने से रोकता है.

  • नॉमिनी को अपडेट करने में गड़बड़ी करना

    आपकी आकस्मिक मृत्यु के मामले में, आपका इंश्योरर आपके नॉमिनी को दी गई प्रक्रिया के माध्यम से डेथ बेनिफिट प्राप्त करने में मदद करेगा. हालांकि, यदि आप सही नॉमिनी विवरण अपडेट करने या किसी भी बदलाव का उल्लेख करने में असमर्थ हैं, तो इंश्योरर आपके नॉमिनी की मदद नहीं कर पाएगा.

अच्छा क्लेम सेटलमेंट रेश्यो क्या है?
 

जब लाइफ इंश्योरेंस प्रोवाइडर का क्लेम सेटलमेंट रेश्यो 90% या उससे अधिक होता है, तो इसे आमतौर पर एक अच्छा क्लेम सेटलमेंट रेश्यो माना जाता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि 90% क्लेम सेटलमेंट रेश्यो इस बात का संकेत है कि इंश्योरेंस प्रोवाइडर ने एक वित्तीय वर्ष के दौरान प्राप्त किए गए 100 क्लेम में से 90 को सेटल किया है.

लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो हर साल बदलता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि इंश्योरर कितने क्लेम सेटल करने में सक्षम था. लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय, यह वार्षिक प्रतिशत और पिछले रिकॉर्ड महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि यह बताता है कि लाइफ इंश्योरेंस प्रोवाइडर प्रत्येक वर्ष के लिए अधिकतम संभव क्लेम को अच्छे से सेटल कर पाया है या नहीं. यह समझने के लिए कि एक अच्छा क्लेम सेटलमेंट रेश्यो क्या होता है, नीचे दिए गए पॉइटंस पर एक नज़र डालें:

  • उच्च क्लेम सेटलमेंट रेश्यो एक साफ़ संकेतक है कि आपका इंश्योरर आपके क्लेम को स्वीकार करेगा और आपकी जरुरत के अनुसार उसको समय पर सेटल करेगा.
  • हालांकि यह सॉल्वेंसी रेश्यो है जो कंपनी की वित्तीय क्षमता को दर्शाता है, क्लेम सेटलमेंट रेश्यो इंश्योरर के वित्तीय स्तिथि की पहचान भी करता है.
  • एक अच्छा लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो पॉलिसी खरीदारों को सुरक्षा की भावना देता है क्योंकि इंश्योरेंस कंपनी विश्वसनीय होती है और क्लेम का भुगतान करने में सक्षम मानी जाती है.

     

लाइफ इंश्योरेंस क्लेम के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

मैच्योरिटी क्लेम फाइल करते समय आपको ये डॉक्यूमेंट पेश करने होंगे:

ये वे डॉक्यूमेंट हैं जिन्हें आपको डेथ क्लेम फाइल करते समय प्रस्तुत करना होगा:

लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम रिजेक्शन के कारण

आपके लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम को रिजेक्ट करना हमारी इच्छा पर निर्भर नहीं करता है. आखिरकार, अगर आपके पास लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी है, तो डेथ क्लेम या मैच्योरिटी क्लेम एक महत्वपूर्ण उद्देश्य को पूरा करने के लिए हैं. जबकि मैच्योरिटी क्लेम का इस्तेमाल मुख्य रूप से आपके वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है, डेथ बेनिफिट आपकी मृत्यु की स्थिति में आपके परिवार की सहायता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका क्लेम रिजेक्ट न किया जाए, लाइफ इंश्योरेंस क्लेम के रिजेक्ट होने के कारणों के बारे में और जानें:

  • गलत जानकारी देना

    आपके द्वारा इंश्योरेंस कंपनी को सबमिट किए गए किसी भी डॉक्यूमेंट में हमेशा सही जानकारी होनी चाहिए, भले ही वह आपके नाम की स्पेलिंग ही क्यों न हो. सभी स्पेलिंग, तारीख और अन्य जानकारी आपके आधिकारिक डॉक्यूमेंट और पहचान प्रूफ के रिकॉर्ड के अनुसार होनी चाहिए. यहां तक कि आपकी लाइफस्टाइल और स्वास्थ्य रिकॉर्ड का विवरण भी ईमानदारी से दिया जाना चाहिए. यहां तक कि आपके नॉमिनी के बारे में सभी जानकारी सही होनी चाहिए ताकि क्लेम फाइल करते समय उन्हें किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े.

  • समय पर प्रीमियम की पेमेंट नहीं करना

    जब आप लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं, तो आपके समय पर प्रीमियम का भुगतान यह सुनिश्चित करता है कि आप अपने और अपने परिवार के लिए लाइफ इंश्योरेंस कवरेज प्राप्त करने में सक्षम हैं. यदि आप कभी भी प्रीमियम देने से चूक जाते हैं, तो आपकी पॉलिसी को एक्टिव करने और लाइफ इंश्योरेंस कवर को जारी रखने में आपकी मदद करने के लिए ग्रेस पीरियड और पॉलिसी रिवाइवल जैसे प्रावधान हैं. हालांकि, यह सुनिश्चित करना हमेशा बेहतर होता है कि आपके प्रीमियम का भुगतान हमेशा समय पर किया जाए क्योंकि आपकी आकस्मिक मृत्यु के बाद, भुगतान न किए गए प्रीमियम के कारण कवरेज बेनिफिट प्रभावित हो सकता है, यदि समय पर प्रीमियम का भुगतान नहीं किया जाता है तो आपका क्लेम रिजेक्ट हो सकता है.  

  • लैप्स हुई पॉलिसी

    अपने प्रीमियम का समय पर भुगतान न करने की वजह से, यदि आप पॉलिसी को लेप्स होने देते हैं, तो आप अपने परिवार की वित्तीय सुरक्षा को जोखिम में डाल सकते हैं. जबकि आप पॉलिसी के नियमों और शर्तों के आधार पर पॉलिसी को रिवाइव कर सकते हैं, तो जब आपका नॉमिनी क्लेम फाइल करने का प्रयास करता है, तो थोड़ी सी देरी और अचानक आने वाली आपातकालीन स्थिति काफी समस्याएं पैदा कर सकती है. यदि पॉलिसी को रिवाइव नहीं किया गया है, तो एक लैप्स पॉलिसी कोई भी बेनिफिट नहीं देगी. यह सुनिश्चित करने के लिए कि ऐसा न हो, तो यह बेहतर रहेगा की आप अपनी पॉलिसी को लेप्स नहीं होने दें.

  • मेडिकल डिटेल्स

    अपने मेडिकल रिकॉर्ड पर गलत तरीके से, मिसिंग और गलत मेडिकल जानकरी प्रस्तुत करना आपके क्लेम के रिजेक्ट होने का एक प्रमुख कारण बन सकता है. अपनी धूम्रपान की आदतों को छिपाने से बेशक आपका प्रीमियम कम हो सकता है, लेकिन यह हमेशा क्लेम रिजेक्ट होने का एक प्रमुख कारण बन सकता है. यदि आपको पहले से कोई गंभीर बीमारी है, तो सुनिश्चित करें कि पॉलिसी खरीदते समय या जब भी आपको इसका पता चलता है, तब आपकी इंश्योरेंस कंपनी को इसके बारे में पता होना चाहिये. ऐसा करना आपकी इंश्योरेंस कंपनी और पॉलिसी को किसी भी तरह से आपकी सहायता करने में मदद कर सकता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपका क्लेम रिजेक्ट न हो और आपको बताए गए बेनिफिट मिल सकें.

ब्लॉग

अधिक जानकारी चाहिए?
हम आपकी मदद करेंगे

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड आपको आपकी पॉलिसी, नए उत्पादों और सेवाओं, बीमा समाधान या संबंधित जानकारी पर अपडेट भेजेगा. ऑप्ट-इन करने के लिए यहां चुनें.

क्या आप एक नया प्लान लेना चाहते हैं ?
अभी हमसे जुड़ें

+91

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड आपको आपकी पॉलिसी, नए उत्पादों और सेवाओं, बीमा समाधान या संबंधित जानकारी पर अपडेट भेजेगा. ऑप्ट-इन करने के लिए यहां चुनें.

क्लेम सेटलमेंट रेश्यो पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्लेम सेटलमेंट रेश्यो की कैलकुलेशन कैसे करें?

लाइफ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो की कैलकुलेशन एक इंश्योरेंस कंपनी द्वारा सफलतापूर्वक किए गए क्लेम्स के प्रतिशत के रूप में की जाती है. यह उन क्लेम्स की संख्या है जो इंश्योरर द्वारा एक वर्ष में उनके द्वारा प्राप्त किए गए सभी क्लेम में से सेटल किए गए हैं.

इसलिए, यदि किसी कंपनी का क्लेम सेटलमेंट रेश्यो 98% है, तो इसका मतलब है कि कंपनी ने उस वर्ष में 100 में से 98 क्लेम को सेटल किया है. क्लेम सेटल करने में कंपनी की दक्षता के आधार पर क्लेम सेटलमेंट रेश्यो हर साल बदल सकता है.

किसी इंश्योरेंस प्रोवाइडर के बारे में ऐसा कब कहा जाता है कि उसका इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो अच्छा है?

90% या उससे अधिक के क्लेम सेटलमेंट रेश्यो को इंश्योरेंस प्रोवाइडर के लिए एक अच्छा क्लेम सेटलमेंट रेश्यो माना जाता है. हालांकि, हर साल, क्लेम सेटलमेंट रेश्यो बदल सकता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि इंश्योरेंस कंपनी कितने क्लेम को अच्छे तरीके से सेटल कर पाई है. और इसलिए, यदि आप एक विश्वसनीय इंश्योरेंस कंपनी की तलाश कर रहे हैं, तो आप पिछले कुछ वर्षों में सफल क्लेम सेटलमेंट का एक कंसिस्टेंट ट्रैक रिकॉर्ड देख सकते हैं.

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस में इंश्योरेंस क्लेम के लिए कैसे अप्लाई करें?

क्लेम फाइल करने के लिए, आप हमसे संपर्क करने के लिए निम्नलिखित में से कोई भी चैनल चुन सकते हैं.

  • हमें ईमेल करें: customercare@tataaia.com

  • हमारे हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें - 1860-266-9966 (लोकल शुल्क लागू)

  • टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के किसी भी ब्रांच ऑफिस में जाएं.

  • हमें यहां लिखेंः
    क्लेम डिपार्टमेंट,
    टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड
    बी- विंग, 9वीं मंजिल,
    आई-थिंक टेक्नो कैंपस,
    टीसीएस के पीछे, पोखरण रोड नंबर 2,
    ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे के पास,
    ठाणे (वेस्ट) 400 607.
    आईआरडीए रेजिस्ट्रशन नंबर 110

ऐसे कौन से कारण हैं जिनकी वजह से क्लेम रिजेक्ट हो सकता हैं?

यदि आप अपने क्लेम को सेटल करने के लिए इंश्योरेंस कंपनी के लिए आवश्यक सभी जानकारी का खुलासा नहीं करते हैं, तो आपके इंश्योरेंस क्लेम को रिजेक्ट किया जा सकता है. इसी तरह, फैक्ट्स को गलत तरीके से पेश करने या गलत तरीके से बताने से भी क्लेम रिजेक्ट हो सकता है. इसका मतलब है कि आपने प्रपोजल फॉर्म पर गलत जानकारी दी है या अपने स्वास्थ्य, जोखिमों आदि के बारे में इंश्योरेंस कंपनी से कुछ महत्वपूर्ण जानकारी छुपाई है.

मुझे डेथ क्लेम कब फाइल करना चाहिए?

पॉलिसी टर्म के दौरान पॉलिसीहोल्डर की मृत्यु के तुरंत बाद डेथ क्लेम फाइल किया जाना चाहिए. यह सुनिश्चित करें कि क्लेम सेटलमेंट के लिए आवश्यक सभी डॉक्यूमेंट, जैसे डेथ सर्टिफिकेट, पॉलिसी डॉक्यूमेंट आदि, समय पर दिए जाएं ताकि क्लेम सही तरीके से फाइल किया जा सके.

क्लेम फाइल करते समय लोग क्या सामान्य गलतियाँ करते हैं?

क्लेम फॉर्म को अधूरा छोड़ना और इंश्योरेंस प्रपोजल फॉर्म पर सभी जानकरी प्रदान नहीं करना दो सबसे सामान्य गलतियाँ हैं जो लोग अक्सर क्लेम करते समय और इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय करते हैं. दुर्भाग्य से, इन दोनों गलतियों के कारण क्लेम रिजेक्ट हो सकता है.

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस के साथ क्लेम फाइल करने के लिए कौन से डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होती है?

क्लेम सूचना और सेटलमेंट प्रक्रिया के लिए आवश्यक डाक्यूमेंट्स की लिस्ट जानने के लिए

कृपया यहां क्लिक करें.

क्या मैं टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस के साथ ऑनलाइन क्लेम फाइल कर सकता/सकती हूं?

हां, टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस आपको हमारी आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन क्लेम फाइल करने में सक्षम बनाता है. वैकल्पिक रूप से, आप हमारे किसी भी ऑफिस ब्रांच का पता लगा सकते हैं और अपना क्लेम फाइल करने के लिए हमसे संपर्क कर सकते हैं.

क्लेम सेटलमेंट रेश्यो जानना महत्वपूर्ण क्यों है?

लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेश्यो जानना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एक आवश्यक संकेतक है कि ज़रूरत पड़ने पर आपके इंश्योरेंस प्रोवाइडर द्वारा समय पर और प्रभावी तरीके से आपके क्लेम को सेटल किया जा सकता है. यह रेश्यो बताता है कि किसी दिए गए वर्ष में इंश्योरेंस कंपनी द्वारा फाइल किए गए या प्राप्त किए गए क्लेम की संख्या के मुकाबले कितने क्लेम को समय पर सेटल किया गया है.

वे कौन से दो प्रकार के क्लेम हैं जिनमे से एक को फाइल किया जा सकता है?

आप डेथ क्लेम और मैच्योरिटी क्लेम फाइल कर सकते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि किस स्थिति में और किस प्रकार के क्लेम को फाइल करने की आवश्यकता है. उदाहरण के लिए, यदि पॉलिसीहोल्डर की पॉलिसी टर्म के दौरान आकस्मिक मृत्यु हो जाती है, तो नॉमिनी डेथ क्लेम फाइल कर सकता है. लेकिन अगर पॉलिसीहोल्डर पॉलिसी टर्म तक जीवित रहता है, तो वो पॉलिसी की मैच्योरिटी पर मैच्योरिटी क्लेम फाइल कर सकते हैं, यदि कोई हो.

अस्वीकरण

  • *वार्षिक वित्तीय विवरणों के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 के लिए इंडिविजुअल डेथ क्लेम रेश्यो.

  • ~पॉलिसी टर्म के 3 वर्ष से अधिक के केवल नॉन-अर्ली क्लेम, बिना जांच के मामले, 50 लाख के सम एश्योर्ड तक के लिए लागू. केवल ब्रांच में जाकर ही लागू हैं. टाटा एआईए को क्लेम सबमिट करने की समय सीमा दोपहर 2 बजे (कार्य दिवस) तक है. पूरे डॉक्यूमेंट सबमिट किए जाने के अधीन. यूलिप पॉलिसी और ओपन टाइटल क्लेम पर लागू नहीं.

  • टाटा एआईए संपूर्ण रक्षा सुप्रीम का पूरा नाम टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस संपूर्ण रक्षा सुप्रीम (UIN:110N160V03) है - नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल लाइफ इंश्योरेंस प्लान

  • %विशिष्ट प्लान विकल्पों के लिए लागू है. कृपया अतिरिक्त जानकरी के लिए ब्रोशर देखें.

  • **लाइफ़ प्लस ऑप्शन के तहत, भुगतान किए गए कुल प्रीमियम के 105% के बराबर राशि (मोडल प्रीमियम के लिए लोडिंग को छोड़कर) पॉलिसी टर्म के अंत में मैच्योरिटी बेनिफ़िट के रूप में देय होगी, बशर्ते लाइफ इंश्योर्ड मैच्योरिटी तक जीवित रहे और पॉलिसी पहले समाप्त न हो.

  • ^राइडर अनिवार्य नहीं है और नाममात्र अतिरिक्त लागत पर उपलब्ध है. राइडर के तहत मिलने वाले फ़ायदों, प्रीमियम और एक्सक्लूज़न की ज़्यादा जानकारी के लिए, कृपया टाटा एआईए लाइफ़ के बीमा एडवाइज़र/ब्रांच से संपर्क करें.

  • टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस नॉन-लिंक्ड कॉम्प्रिहेंसिव प्रोटेक्शन राइडर (UIN:110B033V02 या कोई अन्य बाद का वर्शन) - नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल हेल्थ राइडर, टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस नॉन-लिंक्ड कॉम्प्रिहेंसिव हेल्थ राइडर (UIN: 110B031V02 या कोई अन्य बाद का वर्शन) - नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल हेल्थ राइडर, टाटा एआईए वाइटैलिटी प्रोटेक्ट (नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल हेल्थ राइडर (UIN:110B046V01), टाटा एआईए वाइटैलिटी हेल्थ (नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल हेल्थ राइडर (UIN:110B045V01) इस प्लान के तहत उपलब्ध हैं.

  • वाइटैलिटी एक ट्रेडमार्क है जिसे टाटा एआईए लाइफ को एम्प्लीफाई हेल्थ एसेट्स पीटीई लिमिटेड द्वारा लाइसेंस दिया गया है, जो वाइटैलिटी ग्रुप इंटरनेशनल, इंक. और एआईए कंपनी लिमिटेड का संयुक्त उपक्रम है. वेलनेस प्रोग्राम के तहत किए गए आकलन को मेडिकल सलाह या किसी पेशेवर मेडिकल प्रैक्टिशनर के परामर्श/इलाज के विकल्प के तौर पर नहीं माना जाएगा.

  • #मौजूदा इनकम टैक्स कानूनों के अनुसार इनकम टैक्स बेनिफिट उपलब्ध होंगे, जो उसमें निर्धारित शर्तों को पूरा करने के अधीन होंगे. इनकम टैक्स कानून बदलाव के अधीन हैं. टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड इस डॉक्यूमेंट में कहीं भी बताए गए टैक्स संबंधी प्रभाव के लिए ज़िम्मेदारी नहीं लेती है. आपके लिए उपलब्ध टैक्स बेनिफिट के बारे में जानने के लिए कृपया अपने टैक्स सलाहकार से सलाह लें.

  • ++धारा 80C के तहत ₹46,800 तक के टैक्स बेनिफिट की कैलकुलेशन ₹1,50,000 के भुगतान किए गए लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम पर 31.20% की उच्चतम टैक्स स्लैब दर (सरचार्ज को छोड़ सेस सहित) पर की जाती है. पॉलिसी के तहत टैक्स बेनिफिट धारा 80C, 80D,10 (10D), 115BAC और इनकम टैक्स अधिनियम, 1961 के अन्य लागू प्रावधानों के तहत रखी गई शर्तों के अधीन हैं. अगर गुड्स और सर्विस टैक्स और सेस में से कुछ लागू होता है तो मौजूदा दरों के अनुसार अतिरिक्त शुल्क लिया जाएगा. टैक्स-फ्री इनकम धारा 10 (10D) और इनकम टैक्स अधिनियम, 1961 के अन्य लागू प्रावधानों के तहत बताई गई शर्तों के अधीन है. टैक्स कानून समय-समय पर किए गए संशोधनों के अधीन हैं. उपरोक्त पर कार्रवाई करने से पहले, पूरी जानकारी के लिए कृपया अपने कर सलाहकार से सलाह लें.

  • इस प्लान में लाइफ़ ऑप्शन के तहत प्योर रिस्क प्रीमियम ऑप्शन और लाइफ़ प्लस ऑप्शन के तहत प्रीमियम बेनिफिट के रिटर्न के साथ-साथ अन्य बेनिफिट भी मिलते हैं. कृपया पूरी जानकारी के लिए सेल्स ब्रोशर को देखें.

  • यह प्रोडक्ट टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड द्वारा अंडरराइट किया गया है. यह प्लान एक गारंटीड जारी किया गया प्लान नहीं हैं और यह कंपनी की अंडरराइटिंग और स्वीकृति के अधीन होगा.

  • इस प्रोडक्ट के तहत इंश्योरेंस कवर उपलब्ध है. जोखिम कारकों, नियमों और शर्तों के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए कृपया खरीदने से पहले सेल्स ब्रोशर को ध्यान से पढ़ें.

  • सब-स्टैंडर्ड लाइफ के मामले में, हमारे अंडरराइटिंग दिशानिर्देशों के अनुसार अतिरिक्त प्रीमियम लिया जाएगा.

  • लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना लंबी अवधि की प्रतिबद्धता है पॉलिसी को समय से पहले बंद करने में आमतौर पर बहुत कम राशी मिलती है, और दी जाने वाली सरेंडर मूल्य भुगतान किए गए सभी प्रीमियमों से कम हो सकती है.

  • यह पब्लिकेशन केवल सामान्य प्रचलन के लिए है. यह डॉक्यूमेंट केवल जानकारी और उदाहरण के उद्देश्यों के लिए है और यह किसी भी वित्तीय या निवेश सेवाओं के लिए अभिप्राय नहीं करता है और न ही किसी ऑफ़र या सिफारिश का हिस्सा है. यह डॉक्यूमेंट निवेश सलाह या किसी विशेष सुरक्षा या कार्रवाई के संबंध में सिफारिश के रूप में नहीं है और न ही किसी विशेष सुरक्षा या कार्रवाई के संबंध में इसे माना जाना चाहिए.

  • कृपया अपने इंश्योरेंस एजेंट या इंटरमीडियरी या इंश्योरेंस कंपनी द्वारा जारी पॉलिसी डॉक्यूमेंट से संबंधित जोखिमों और लागू शुल्कों के बारे में जानें और इस डॉक्यूमेंट को निवेश सलाह या किसी विशेष सुरक्षा या कार्रवाई के संबंध में सिफारिश के रूप में नहीं माना जाना चाहिए.

  • ~यह लागू सिर्फ ब्रांच वॉक इन के लिए है. टाटा एआईए को क्लेम जमा करने का वक्त दुपहर २ बजे (कार्य दिवस) तक है. ओपन टाइटल क्लेम्स ओर यूलिप बीमा के लिए लागू नहीं हैं. सारे दस्तावेज पूरे होने पर लागू हैं. यह लागू सिर्फ नॉन अर्ली क्लेम्स पॉलिसी अवधि ३ वर्ष से ऊपर, गैर जांच मामले के लिए है. वो भी ५० लाख तक की बीमा राशि पर.
  • L&C/Advt/2023/Apr/1293